Latest News

मछली का सिर सेवन करने से कई जानलेवा बीमारियों से बचा जा सकता है

मुंबई : बालों की खूबसूरती हो या फिर बात डिप्रेशन से निजात पाने की, मछली का सेवन दोनों ही परेशानियों से निजात दिलाने में मदद करता है। मछली का सेवन करने से शरीर को मिलने वाले कई अद्भुत फायदे तो आप पहले से ही जानते होंगे, लेकिन क्या आप यह बात जानते हैं कि मछली से ज्यादा उसका सिर का हिस्सा पौष्टिक होता है। जी हां मछली का सिर कई तरह के विटामिन्स, मिनरल्स और हेल्दी फैट से भरपूर होता है।

यही वजह है कि मछली के सिर को सेहत के लिए हेल्दी फूड्स में शामिल किया जाता है। मछली का सिर न सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होता है बल्कि इसका सेवन करने से व्यक्ति कई जानलेवा बीमारियों से भी दूर रहता है। मछली के सिर का सेवन करने से व्यक्ति की शुगर कंट्रोल होकर उसकी इम्यूनिटी में भी सुधार होता है। आइए आज आपको मछली के सिर का सेवन करने से मिलने वाले ऐसे ही कुछ गजब के फायदे बताते हैं जिन्हें सुनकर आप रोजाना इसका सेवन करना चाहेंगे। कोलेस्ट्रॉल रखता है कंट्रोल-
मछली के बाकी शरीर की तुलना में उसके सिर का हिस्सा अधिक पौष्टिक होता है। मछली के सिर में सैचुरेटेड फैट काफी कम होता है। जिसकी वजह से इसका सेवन करने वाले व्यक्ति के शरीर में कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है और व्यक्ति हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी कार्डियोवस्कुलर बीमारियों के खतरे से बहुत दूर रहता है। 

दिमाग के लिए फायदेमंद-
झड़ते बालों के साथ अगर आप चीजें रखकर भूलने लगे हैं तो मछली के सिर का सेवन शुरू कर दें। विशेषज्ञों के अनुसार मछली के सिर में ओमेगा-3 भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो मनुष्य की याददाश्त को दोगुना अच्छा कर देता है। 

आंखों की रोशनी बढ़ाता है-
मछली के सिर के हिस्से में विटामिन ए अच्छी मात्रा में मौजूद होता है। विटामिन ए व्यक्ति की आंखों के लिए बहुत अच्छा होता है। विटामिन ए आंखों की रोशनी बढ़ाता है और लंबे समय तक आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। जिन लोगों की आंखों की शक्ति कमजोर है उन्हें हफ्ते में एक बार मछली के तेल का सेवन जरूर करना चाहिए।

रोग प्रतिरोधक क्षमता-
मछली के सिर में मौजूद विटामिन ए व्यक्ति के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी करने के लिए भी जाना जाता है। 

डिप्रेशन होता है दूर-
कई रिसर्च बताती हैं कि ओमेगा 3 फैटी एसिड और डीएचए वाले आहार का सेवन करने से मस्तिष्क स्वस्थ रहता है और तनाव, डिप्रेशन जैसी मानसिक बीमारियों से बचाव होता है। मछली के सिर में मौजूद विटामिन ए के अलावा उसमें मौजूद प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से लड़कर ऑस्किडेटिव स्ट्रेस को भी कम करते हैं।

डायबिटीज और गठिया रोग में भी राहत-
मछली के सिर का सेवन करने से व्यक्ति का मेटाबॉलिज्म अच्छा होता है और इम्यूनिटी बढ़ती है। जिसकी वजह से मधुमेह ,गठिया रोग और ऑटोइम्यून बीमारियों का खतरा भी कम हो जाता है।

हफ्ते में कितने दिन करें मछली का सेवन-
सप्ताह में कम से कम 1-2 बार अगर व्यक्ति मछली के सिर का सेवन करें, तो वो कई जानलेवा बीमारियों से जीवन भर दूर रहता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

GanaDesh News - Online Portal - Copyright : Bhavya Communications

Blogger द्वारा संचालित.